Yoga

आज की लाइफस्टाइल ने हमारे जीवन को एक दम से बदल के रख दिया है आज का खान-पान सही नहीं रहने से ज्यादातर लोगों को गैस और एसिडीटी की समस्या रहती है और इससे पेट फुलने लगता है। अगर आप चाहे तो इसे योगासन से भी ठीक कर सकते हैं। नियमित रूप से योगासन करने से आप अपने स्वाथ्य को सही रख सकते हैं। इसके लिए आज हम अपने पाठकों को योग के उन आसनों के बारे में बता रहे हैं ,जिन्हे करने से पेट का फूलना तो ठीक होगा ही, साथ ही कई और बीमारियां भी दूर हो सकती है।

dhanurasana yoga

धनुरासन
धनुरासन यानी की अपने शरीर धनुष के आकार में मोडऩा, इस आसन से बढ़े हुए पेट को कम किया जा सकता है इतना ही नहीं, इसको नियमित रूप से करने से पेट, गला, सीना, जांघ आदि की मांसपेशियां भी मजबूत होती है, साथ ही, ब्लड का सर्कुलेशन भी सही रहता है। पीरियड के दौरान होने वाली समस्याओं को भी इस आसन से कम किया जा सकता हैं।

matsyasana yoga

मत्स्यासन
अगर आप योग करते हुए अपने शरीर को मछली का आकार बनाते हैं, तो इसे योग में मत्स्यासन कहा जाता है। यह आसन हमारे शरीर के लिए उतना ही लाभ मिलता है जितना मछली खाने से मिलता है, इस आसन को करने से शरीर की थकान दूर होती है और गैस की समस्या से निजात मिलती है साथ ही फूला हुआ पेट भी कम हो जाता है अनपच की समस्या भी नहीं रहती है।

balasan yoga

बालासन
अगर पेट पर चर्बी ज्यादा हो गया है या किसी वजह से पेट फूल गया है, तो बालासन करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा, इसकी मदद से आप अपने पेट पर जमी हुई चर्बी को कम कर सकते हैं हर रोज बालासन करने से पेट की चर्बी धीरे-धीरे खत्म हो जाती है और पेट की सूजन भी कम हो जाती है इससे गर्दन, पीठ और कंधे का तनाव भी दूर हो जाता है।

halasana yoga

हलासन
इस आसन को करने से पेट बाहर की तरफ नहीं निकलता है और रीढ़ की हड्डी लचीली बनती है, हलासन को नियमित रूप से करने से पाचन क्रिया सही रहती है और शरीर से आलस दूर हो जाता है और हम खुद को एक्टिव महसूस करते हैं।

कुछ और भी खास बातें हैं जिनकों अपनाने से पेट की बीमारियों को दूर किया जा सकता है। खान-पान सही नहीं रहने से ज्यादातर लोगों को गैस की समस्या रहती है, बालासन से पेट पर जमे हुए चर्बी को कम किया जा सकता है, हलासन करने से पाचन तंत्र सही रहता है और हम एक्टिव रहते हैं।