पतला होने और पेट अन्दर करने का पतंजलि उपचार | News Raftaar

वजन कम करने और पेट की चर्बी घटाने के लिए अधिकतर लोग एक्सरसाइज, योग, डाइटिंग और घरेलू नुस्खे प्रयोग करते है। ये पेट अंदर करने के उपाय अपनाकर सेहतमंद तरीके से मोटापा कम किया जा सकता है

पर कुछ बहुत से लोगों की दिनचर्या काफी व्यस्त होती है जिस कारण वे नियमित रूप से इन उपायों को नहीं कर पाते और ऐसे में वे जल्दी पतले होने की दवाई या कोई आसान तरीका जानना चाहते है। इस लेख में हम बाबा रामदेव वेट लॉस मेडिसिन दिव्य मेदोहर वटी के बारे में जानेंगे। ये पतला होने की आयुर्वेदिक दवा है जो पतंजलि स्टोर से ले सकते है। आइये जाने

जब हम भोजन में आवश्यक्ता से अधिक कैलोरी लेते है तो ये शरीर में वसा के रूप में जमा होने लगती है जिस वजह से धीरे धीरे वजन बढ़ने लगता है।

दिव्य मेदोहर वटी पतंजलि की आयुर्वेदिक दवा है जो पेट अंदर करने के इलावा पाचन शक्ति को भी दरुस्त करने में कारगर है। ये मेडिसिन आप अपने आसपास किसी बाबा रामदेव पतंजलि के स्टोर से ले सकते है। दिव्य मेदोहर वटी पुरे शरीर का वेट लॉस करने की बजाय पेट की चर्बी कम करने में जादा असरदार दवाई है।

त्रिफला और गुग्गुल (गुग्गल) इस दवा के प्रमुख सामग्री में से एक है। त्रिफला मोटापा कम करने की आयुर्वेदिक दवाई है जो वसा पचाने की प्रक्रिया में सुधार लाती है।

गुग्गल भी त्रिफला की तरह पेट की चर्बी घटाने और वजन कम करने में मदद करती है। दिव्य मेदोहर वटी में कुछ और भी औषधियां मौजूद है जो शरीर में वसा जमा नहीं होने देती और साथ ही फैट लॉस की प्रक्रिया को दरुस्त करने में मदद करते है।

पतंजलि दिव्य मेदोहर वटी के फायदे

-ये दवा हार्मोन्स को संतुलन में रखने में मदद करती है।
-पेट कम के इलावा ये आयुर्वेदिक दवा भूख भी नियंत्रित करती है।
-ब्लड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्रॉल को कण्ट्रोल करने में मदद मिलती है।
-मेदोहर वटी एक हर्बल मेडिसिन है जिससे वजन कम करने के इलावा ताक़त भी मिलती है।
-गर्भवती महिला की डिलीवरी के बाद अक्सर वजन बढ़ जाता है और ऐसे में ये वजन कम करने की दवाई काफी सहायक हो सकती है।

दिव्य मेदोहर वटी से पेट अंदर कैसे करे
इस दवा की खुराक प्रयोग करने वाले के वजन और उसकी उम्र के अनुसार दी जाती है। बच्चों के लिए एक से दो गोली, नोजवानों के लिए दो से तीन गोलियां और वृद्ध लोग एक से दो टेबलेट दिन में दो बार ले सकते है। पतले होने के लिए दिन में तीन बार दो से तीन गोली ले सकते है।

जल्दी पेट अंदर करने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह ले कर ही इस दवाई का सेवन शुरू करे। आप की उम्र और शारीरिक श्रम की जानकारी ले कर वो आपको सही से बताएंगे की आपको वटी टॅबलेट की कितनी गोली खानी चाहिए।

यह भी पढ़ें – हैवान बाप ने सो रही अपनी 3 बेटियों को उतारा मौत के घाट

पतला होने की ये आयुर्वेदिक दवा कब खाए
पेट कम करने के लिए आप इस दवा को भोजन के बाद या फिर भोजन से पहले कभी भी ले सकते है। अगर खाना खाने से पहले दवा ले तो कम से कम 1/2 घंटा पहले और अगर खाना खाने के बाद लेना चाहे तो 1 घंटा बाद ही दवा ले। इस वेट लॉस पतंजलि मेडिसिन को गरम पानी से लेने पर अच्छे परिणाम मिलते है।

भोजन से पहले कुछ लोगो को ये दवा लेने पर पेट से संबंधित कुछ परेशानी आने लगती है। अगर आपको भी कोई परेशानी आये तो भोजन करने के बाद ही इस दवा का सेवन करे।

गर्भवती महिलाओं और पांच साल से छोटे बच्चों को इस दवाई के सेवन से दूर रहना चाहिए।

बाबा रामदेव वेट लॉस मेडिसिन इन हिंदी
दिव्य मेदोहर वटी के इलावा कुछ और पतंजलि दवाईयां भी है जो पेट अंदर करने में मददगार है। आइए जाने बाबा रामदेव मोटापा कम करने की दवा।

आंवला जूस
एलोवेरा जूस
त्रिफला गुग्गुल
दिव्य गोधन अर्क
दिव्या पेय हर्बल टी

पेट अंदर करने के उपाय बाबा रामदेव टिप्स

एक्सरसाइज और योग से वजन घटाने में काफी मदद मिलती है और इसके इलावा अगर आप हर रोज आधे से एक घंटा नार्मल स्पीड से थोड़ा तेज चले तो एक महीने में तीन से चार किलो वजन सिर्फ चलने से ही कम हो सकता है। इसलिए सुबह या शाम की सैर के लिए समय जरूर निकाले।

पेट की चर्बी कम करने के लिए हर रोज कपालभाती प्राणायाम करने से भी फायदा मिलता है।

फ़्रीज़ का ठंडा पानी पीने की बजाय गुनगुना पानी पिने की आदत बनाये और इसके इलावा जादा मीठा खाने से बचे और हेल्थी डाइट ले।

दोस्तों पतला होने की दवा हिंदी में, का ये लेख आपको कमेंट कर के बताये और अगर आप के पास पेट अंदर करने के तरीके, घरेलू उपाय से जुडी कोई जानकारी या फिर पतले होने के लिए क्या करना चाहिए से जुड़े अनुभव या सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे।