हार्ट ब्लॉकेज खोलने का कारगर उपाय (Heart Blockage Treatment)

49

हार्ट ब्‍लोकेज, हार्ट ब्‍लोकेज का उपचार, हार्ट ब्‍लोकेज के लक्षण

Heart Blockage की समस्या दिल की धड़कन से जुड़ी बीमारी है। गलत खान-पान के कारण हृदय की रक्तवाहिका धमनियों में नुकसानदेह कोलेस्ट्रॉल एलडीएल जमा हो जाता है ऐसी स्थिति में दिल की धमनियों में खून के जमाव का खतरा बढ जाता है। इस कारण लोगों में heart blockage की समस्या हो जाती है। heart blockage होने पर लोग महँगी दवाओं का सेवन करते है लेकिन इसकी बजाए आप कुछ नैचुरल फूड से भी ब्लॉकेज की समस्या को दूर कर सकते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि heart blockage होने पर किन चीजों का सेवन करने से आपकी धमनियां बिल्कुल साफ हो जाएगी और दिल हैल्दी बना रहेगा।

हार्ट ब्‍लॉक होना हृदय के इलेक्ट्रिकल सिस्‍टम में एक रोग है, इससे हृदय की गति प्रभावित होती है। जब किसी के हृदय में ब्‍लॉकेज होती है तो यह दिल के धड़कने की दर यानी हार्टबीट पर असर डालती है।

आइये अब बात करते है कुछ हार्ट ब्‍लोकेज (Heart Blockage) के
घरेलू नुस्खों व उपचार के बारे में

लौकी

हृदय रोग के लक्षण से राहत पाने के लिए लौकी की सब्जी, और लौकी के जूस का सेवन फायदेमंद होता है। यह रक्त की अम्लता कम करने में सहायता करता है। लौकी के जूस में तुलसी की पत्तियां मिलाकर पिएं। तुलसी की पत्ती में क्षारीय गुण होते हैं। इसमें पुदीना भी मिला कर पीने पर लाभ मिलता है। इसके स्वाद को बदलने के लिए आप सेंधा नमक मिला सकते हैं।

अनार

अनार में फाइटोकेमिकल्स होता है, जो एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में धमनियों की परत को क्षतिग्रस्त होने से रोकता है। रोजाना एक कप अनार के रस का सेवन करें। अनार का सेवन हार्ट अटैक से बचने का उपाय है। हार्ट ब्लॉकेज के लक्षणों से राहत पाने में अनार का घरेलू उपाय फायदेमंद साबित होता है।

लहसुन

लहसुन बंद धमनियों को साफ करने के लिए सबसे अच्छे उपायों में से एक है। यह रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करता है, और रक्त संचार में सुधार करता है। लहसुन खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, और दिल के दौरे या स्ट्रोक के खतरे को कम करता है।

तीन लहसुन की कली को काटकर एक कप दूध में मिलाकर उबाल लें। थोड़ा ठण्डा होने पर सोने से पहले पिएं। अपने आहार में लहसुन को शामिल करें।

हल्दी

हल्दी बंद धमनियों को खोलने का काम करता है। हल्दी में करक्यूमिन रहता है, जिसमें एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लामेटरी गुण होता है। यह खून को जमने में रोकता है। गर्म दूध में रोजाना हल्दी मिलाकर सेवन करना चाहिए। सर्दियों से हल्दी का प्रयोग कई तरह के बीमारियों से राहत पाने के लिए किया जाता है।

नींबू

नींबू विटामिन-सी से भरपूर एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट है। यह रक्तचाप में सुधार लाने, और धमनियों की सूजन को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, नींबू ब्लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने, और रक्त प्रवाह में ऑक्सीडेटिंव के नुकसान को रोकता है, तथा धमनियों को साफ करता है। इसके लिए आप गुनगुने पानी के एक गिलास में थोड़ा-सा शहद, काली मिर्च पाउडर और एक नींबू का रस मिला लें। कुछ हफ्तों के लिए दिन में एक या दो बार लें।

इलायची

इलायची ब्लड में कोलेस्ट्रोल के लेवल को बेहतर करने के साथ-साथ रक्त में फाइब्रिनोलिटिक गतिविधि को भी बढ़ाता है। फाइब्रिनोलिटिक का काम रक्त का थक्का को बनने से रोकना, और हार्ट ब्लॉकेज की संभावना को कम करना है।

Heart Blockage में हमारे कुकिंग ऑयल भी बहुत बड़ा कारण हैं

अगर आप अपने खाने की चीजों में डालडा या अन्य रिफाइन आयल ,डबल रिफाइनआयल का इस्तेमाल करते है | तो हम आप को बता दे की हार्ट ब्लॉकेज सबसे बड़ा और मैन कारण है|

सबसे पहले आप अपने कुकिंग आयल को बदलना होगा | आप अपने कुकिंग आयल में इस्तेमाल कर सकते है मूंगफली का तेल जो की heart के लिए बहुत अच्छा है | और जैसे जैतून का तेल,सूरजमुखी तेल,सोयाबीन तेल,सरसों तेल के इस्तेमाल से LDL जो की बुरा कोलोस्ट्रोल है वह खुद बा खुद कम होना सुरु हो जायेगा

इन सब चीजों के साथ हमें अपने heart को healthy रखने के लिए अपनी दिनचर्या में रोजाना व्यायाम और योग को लाना चहिए | इससे हमारे रक्त का प्रवाह सही डंग से होगा और इस के आलावा शराब व धूम्रपान पर रोक नमक व चीनी का सेवन कम से काम मात्रा में करना फैट फ्री फ़ूड खाना |

  • अपने मोटेपे को बढ़ने से रोकना
  • बेहतर नींद ले
  • तनाव मुक्त रहना
  • ऐसा करने से आप भविष्य में हार्ट डिजीज याने हृदय रोगो से बचे रहेगे