केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गुरुवार को कहा कि भारत सुलभ और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का ‘हब’ बन रहा है तथा मोदी सरकार अल्पसंख्यकों सहित सभी तबकों के शैक्षिक सशक्तिकरण के लिए काम कर रही है।

मलेशिया में शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे संगठन ‘पिंटा’ के 7 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से भेंट के दौरान अब्बास नकवी ने कहा कि केंद्र सरकार के पिछले 3 वर्षों के कार्यकाल के दौरान शिक्षा प्राप्त करने हेतु भारत आने वाले विदेशी छात्रों की संख्या में बड़े पैमाने पर बढ़ोतरी हुई है।

वहीं देश के गरीब एवं पिछड़े क्षेत्रों में शिक्षा की सुविधा मुहैया कराने में बड़ी सफलता मिली है। भारत सुलभ और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का हब बन रहा है। अब्बास नकवी ने कहा कि शिक्षा ही सशक्तिकरण का केंद्र बिंदु है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार अल्पसंख्यकों सहित सभी तबकों के शैक्षिक सशक्तिकरण के प्रति मजबूती से काम कर रही है।

प्रतिनिधिमंडल की अब्बास नकवी से मुलाकात के दौरान अल्पसंख्यक समाज के शैक्षिक सशक्तिकरण के विभिन्न कार्यक्रमों पर चर्चा हुई। अब्बास नकवी ने कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य समाज के हर तबके के बच्चे को बेहतर, गुणवत्तापूर्ण एवं आधुनिक शिक्षा मुहैया कराना है।

अब्बास नकवी ने पिंटा के प्रतिनिधिमंडल को मोदी सरकार द्वारा समाज के सभी कमजोर तबकों सहित अल्पसंख्यकों के शैक्षिक सशक्तिकरण एवं रोजगारपरक कौशल विकास के लिए शुरू की गई योजनाओं जैसे गरीब नवाज कौशल विकास योजना, बेगम हजरत महल बालिका छात्रवृति आदि की जानकारी दी।

प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि भारत की तरह मलेशिया में भी सभी धर्मों, संस्कृति के लोग मिलजुल कर शिक्षा एवं विकास के लिए काम कर रहे हैं।
इस मुलाकात में अल्पसंख्यक मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन के सचिव, फाउंडेशन के सदस्य, एवं कुछ बुद्धिजीवी भी उपस्थित थे।