YSR congress president

विशाखापटनम एयरपोर्ट में वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी पर जानलेवा हमला हुआ है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक एयरपोर्ट पर एक हमलावर ने जगन पर धारदार हथियार से हमला कर दिया, हालांकि उन्हें गंभीर चोट नहीं आई है. नुकीला हथियार जगन के बाजू में लगा, जिसके बाद वह जख्मी हो गए.

हमले के बाद जगन सुरक्षित हैदराबाद पहुंच गए हैं. उन्होंने ट्वीट कर बताया, मैं सुरक्षित हूं. आंध्र प्रदेश की जनता और भगवान की कृपा ने मुझे बचा लिया. ऐसे कायराना हमले मुझे नहीं रोक पाएंगे, लेकिन मुझे राज्य के लोगों के प्रति काम करने के लिए मजबूत जरूर करेंगे.

इससे पहले एयरपोर्ट पर हुए हमले के तुंरत बाद जगनमोहन की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों और CISF के जवानों ने हमलावर को हिरासत में ले लिया. जगन विशाखापत्तनम से हैदराबाद जाने के लिए फ्लाइट का इंतजार कर रहे थे, तभी एक शख्स उनके करीब आ गया और उसने नुकीले हथियार से जगन पर हमला कर दिया था.

यह भी पढ़ें – कोटा में नरेंद्र मोदी पर जमकर बरसे राहुल गाँधी, देश का चौकीदार बन गया चोर

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने इसे कायराना हमला करार देते हुए मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. साथ ही उन्होंने नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव के जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए हैं. प्रभु ने कहा कि जांच के बाद दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा. आंध्र प्रदेश के गृह मंत्री एन सी राजप्पा ने बताया कि हमलावर को हिरासत में लिया गया है और मामले की जांच चल रही है.

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने हमले की निंद करते हुए उड्डयन मंत्री से जवाब मांगा है, साथ ही उन्होंने एयरपोर्ट की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े करते हुए मामले की जांच कराने की मांग की है.

कौन हैं जगनमोहन रेड्डी
जगनमोहन रेड्डी वाई एस राजशेखर रेड्डी के बेटे हैं. उनके पिता 2004 से 2009 तक मुख्यमंत्री रहे. मुख्यमंत्री रहते ही उनकी हेलिकॉप्टर हादसे में मौत हो गई थी. उनके बेटे जगन मोहन ने आगे चलकर कांग्रेस से अलग होकर वाईएसआर कांग्रेस के नाम से अपनी पार्टी बना ली. वाईएसआर कांग्रेस ही अब आंध्र में मुख्य विपक्षी पार्टी है. वह फिलहाल पार्टी अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं.