कर्ज ना चुका पाने के कारण राजपाल यादव को हुई 3 महीने की जेल | News Raftaar

न्यायमूर्ति राजीव सहाय ने आदेश दिया कि यादव को हिरासत में ले लिया जाए और तिहाड़ जेल भेज दिया जाए.

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को अभिनेता राजपाल यादव को तीन महीने के लिए जेल भेजने का आदेश दे दिया. अभिनेता की कंपनी ने एक फिल्म बनाने के लिए पांच करोड़ रुपये का ऋण लिया था जिसे वे चुकाने में असमर्थ रहे हैं. न्यायमूर्ति राजीव सहाय ने आदेश दिया कि यादव को हिरासत में ले लिया जाए और तिहाड़ जेल भेज दिया जाए. दिल्ली की एक कंपनी ‘मुरली प्रोजेक्ट्स’ ने अभिनेता की कंपनी ‘श्री नौरंग गोदावरी एंटरटेनमेंट’ पर पांच करोड़ रुपये का ऋण नहीं चुकाने का आरोप लगाकर मामला दर्ज कराया था. अभिनेता ने 2010 में फिल्म ‘अता पता लापता’ में निर्देशक के तौर पर पदार्पण करने के लिए यह ऋण लिया था.

इससे पहले इसी साल अगस्त में इसी मामले में (ऋण न चुकाने के बाद उनके सात चेक बाउंस होने के बाद) दिल्ली की एक अदालत ने उन्हें छह महीने जेल की सजा सुनाई थी. बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी. ‘जंगल’, ‘प्यार तूने क्या किया’, ‘वक्त: रेस अगेंस्ट टाइम’, ‘जुड़वा’ जैसी बॉलीवुड फिल्मों और ‘भोपाल- ए प्रेयर ऑफ रेन’ से हॉलीवुड में पदार्पण करने वाले राजपाल ने उस वक्त कहा था, “मैं यहां एक गांव से एक अच्छा अभिनेता बनने आया था और किस्मत से मुझे फिल्मोद्योग और दर्शकों से बहुत प्यार मिला और मेरे लिए ये सच्ची संतुष्टि है”

यह भी पढ़ें – प्रैक्टिस मैच के दौरान पृथ्वी शॉ की एड़ी मुड़ी, कौन करेगा ओपनिंग

उन्होंने कई फिल्मों में काम किया और अपने अभिनय कौशल से प्रभावित किया लेकिन मुख्य किरदार की भूमिका न निभाने के प्रश्न पर उन्होंने कहा था, “यह निर्भर करता है कि एक कलाकार कैसे एक विशेष किरदार चुनता है. कोई भी कलाकार अच्छी पटकथा तलाशता है, उसे हमेशा अच्छी भूमिकाएं मिलेंगी. मेरी समझ में यही आया है और इसीलिए मैं पटकथा पर ध्यान देता हूं और इसके लिए मैं ईश्वर का धन्यवाद देता हूं.” हाल ही में अपनी आगामी हॉलीवुड फिल्म ‘बेयरफुट वारियर्स’ की शूटिंग पूरी कर चुके राजपाल का कहना है कि फिल्म जगत के सभी कलाकारों से उनके अच्छे संबंध हैं.