ममता बनर्जी: मैं देश के लिए अपनी जान दांव पर लगा दूंगी, मगर अन्याय बर्दाश्त नहीं करूंगी | News Raftaar

Mamata Banerjee vs CBI: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में जारी सीबीआई बनाम ममता सरकार (Mamata Banaerjee) मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के समक्ष पेश होने को कहा है.

नई दिल्ली: Mamata Banerjee vs CBI: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में जारी सीबीआई बनाम ममता सरकार (Mamata Banerjee) मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के समक्ष पेश होने को कहा है. हालांकि, कोर्ट (Supreme Court) ने राजीव कुमार (Rajeev Kumar’s Case Hearing in Supreme Court) की गिरफ्तारी से साफ इनकार कर दिया है. सीबीआई-कोलकाता पुलिस आयुक्त मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ममता बनर्जी ने कहा, यह हमारी नैतिक जीत है. इस बीच कोलकाता में ममता बनर्जी के धरने का तीसरा दिन जारी है और अभी इसके कोई संकेत नहीं मिले हैं कि ममता बनर्जी कब धरना खत्म करेंगी. ममता बनर्जी ने सीबीआई की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया है और उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र की जीत है. धरनास्थल से ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि वह देश बचाने के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान कर देंगी, मगर अन्याय बर्दाश्त नहीं करेंगी.

ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान क्या-क्या कहा:
-इस देश में कोई बिग बॉस नहीं है. यहां केवल जनता ही बिग बॉस है. केवल लोकतंत्र ही इस देश का बड़ा मालिक है.
सीबीआई का अपना कोर्ट है. कितने लोगों को न्याय मिलता है. मैं सिर्फ राजीव कुमार के लिए नहीं लड़ रही हूं, मैं करोड़ों लोगों के लिए लड़ रही हूं.
-यह पूछे जाने पर कि क्या वह अपना धरना जारी रखेंगी, इस पर उन्होंने कहा कि “मैं जल्दबाज़ी में फैसला नहीं करूंगी. मुझे अपने लोगों से सलाह लेने दें. इतने सारे नेता आ रहे हैं. आज नायडू आ रहे हैं. हम अकेले नहीं लड़ रहे हैं. मुझे परामर्श लेने दीजिए उसके बाद बताऊंगी.
-सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ममता ने कहा कि “यह मेरी जीत नहीं है. यह संविधान की जीत है. यह भारत की जीत है.
हमारा आंदोलन लोगों का आंदोलन है. मैंने बहुत समय तक अन्याय को पचाया. मेरा दिल अन्याय पर रो रहा था.
-सुप्रीम कोर्ट में केंद्र के आरोपों को खारिज कर दिया गया. आपसी जगह पर सहमति बनानी होगी. राजीव कुमार की गिरफ्तारी से इनकार किया गया है.
-आज लोकतंत्र की जीत है, भारत की जीत है, लोगों की जीत है.
-योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर को जमीन पर नहीं उतरने देने के आरोप पर ममता ने कहा कि यह बिल्कुल गलत है.
मोदी हटो, देश बचाओ- हम सभी राजनीतिक दलों के साथ लड़ाई लड़ेंगे. सभी लोगों को प्रधानमंत्री बनने के लिए आमंत्रित किया जाता है.
-पीएम मोदी ने लोकतंत्र को नष्ट कर दिया है.
-योगी आदित्यनाथ पहले यूपी को संभालें. वहां, इतने लोग मारे गए हैं, यहां तक ​​कि पुलिस भी सुरक्षित नहीं है.
धरने को लेकर सभी से चर्चा करेंगे फिर देखेंगे कि जारी रहेगा या नहीं.
-मैं देश को बचाने के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान करने को तैयार हूं, मगर अन्याय बर्दाश्त नहीं करूंगी.

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की अर्जी पर क्या कहा:
-CBI के सामने पेश हों कमिश्नर’
-शिलॉन्ग में CBI के सामने पेश होंगे राजीव कुमार
-पूछताछ में सहयोग करेंगे, गिरफ़्तारी पर रोक
-कमिश्नर, डीजीपी, गृह सचिव को अवमानना नोटिस
-19 फ़रवरी तक तीनों को नोटिस का जवाब देना है
-फिर कोर्ट तय करेगा कि इन्हें तलब करें या नहीं
-20 फ़रवरी को मामले की अगली सुनवाई होगी

कैसे बढ़ा मामला:
दरअसल, कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से सारदा चिटफंड मामले में पूछताछ के लिए सीबीआई के दर्जनों अधिकारी रविवार को उनके घर गए थे. मगर सीबीआई को पुलिस ने ऐसा नहीं करने दिया. इस मामले पर पुलिस और सीबीआई के बीच में काफी हंगामा हुआ. इसके बाद पुलिस ने सीबीआई अधिकारियों को हिरासत में ले लिया और फिर थाने ले गई. इस घटना के तुरंत बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी करीब 8 बजे राजीव कुमार से मिलने गईं और फिर मुलाकात के बाद धरने का ऐलान कर दिआ. करीब 8.30 बजे वह रविवार की रात धरने पर बैठ गईं जो अभी तक जारी है. ममता बनर्जी संविधान बचाने के लिए मोदी सरकार के खिलाफ धरने पर बैठी हैं. उनका आरोप है कि मोदी सरकार सीबीआई का गलत इस्मेला कर रही है.