IPL फेम: संजू सैमसन ने रचाई कॉलेज क्लासमेट से शादी | News Raftaar

sanju samson ties the knot राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलने वाले सैमसन और चारुलता का प्रेम संबंध कालेज के दिनों से है. दोनों ने कोवालम में हुए एक छोटे से समारोह में शादी की.

केरल के क्रिकेटर संजू सैमसन ने शनिवार को अपनी प्रेमिका चारुलता से शादी रचाई. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलने वाले सैमसन और चारुलता का प्रेम संबंध कालेज के दिनों से है. दोनों ने कोवालम में हुए एक छोटे से समारोह में शादी की. रिसेप्शन शनिवार शाम को होगा. 24 साल के सैमसन ने कहा, ‘दोनों परिवारों के कुल 30 लोग ही एक छोटे से समारोह में मौजूद थे.’

सैमसन ने कहा, ‘हम खुश हैं कि हमें दोनों परिवार के सदस्यों की शुभकामनाएं मिलीं.’ सैमसन ईसाई हैं, जबकि उनकी पत्नी चारु हिंदू हैं. दोनों ने विशेष विवाह अधिनियम के तहत विवाह किया. संजू पारंपरिक परिधान पीला कुर्ता और धोती में थे, जबकि चारुलता साड़ी में दिखीं. दोनों एक-दूसरे को मार इवानिओस कॉलेज के दिनों से जानते हैं. फिलहाल, चारु स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर रही हैं.

संजू सैमसन ने आईपीएल (Indian Premier League) में अब तक 26.67 की औसत से 1867 रन बनाए हैं. जिसमें उनका एक शतक भी शामिल हैं. उन्होंने यह एकमात्र शतकीय पारी (102 रन, 63 गेंदों में ) आईपीएल-10 (2017) में तत्कालीन दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेली थी. संजू फिलहाल राजस्थान टीम में हैं, उन्हें रॉयल्स फ्रेंचाइजी ने 8 लाख रुपये में खरीदा था. इससे पहले संजू पर दिल्ली ने 2016 में 4.2 करोड़ रु. की बोली लगाई थी.

यह भी पढ़ें – लड़की के पिता और दोस्त ने कई बार किया रेप, लड़की हुई 7 महीने की प्रेग्नेंट

संजू को टीम इंडिया की ओर से एक टी-20 इंटरनेशनल में खेलने का मौका मिल चुका है. उन्होंने 2015 में जिम्बाव्बे के खिलाफ हरारे में डेब्यू किया था. पदार्पण मैच में वह 19 रन ही बना पाए थे. संजू चैंपियंस लीग टी-20 में अर्धशतक जड़ने वाला सबसे युवा खिलाड़ी के तौर पर रिकॉर्ड रखते हैं. आईपीएल की बात करें, तो संजू सैमसन (2013) और पृथ्वी शॉ (2018) के नाम संयुक्त रूप से सबसे कम उम्र (18 साल 169 दिन) में अर्धशतक लगाने का कीर्तिमान है. संजू को आईपीएल 2013 में आधिकारिक ऑनलाइन वोटिंग में सत्र का सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी चुना गया था.

संजू के क्रिकेट के लिए उनके पिता विश्वनाथ सैमसन ने दिल्ली पुलिस के कॉन्सटेबल की नौकरी छोड़ दी थी. वे किसी भी कीमत पर संजू को क्रिकेटर बनाना चाहते थे. दिल्ली अंडर-13 टी में संजू का सलेक्शन नहीं होने पर उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली और परिवार सहित अपने शहर तिरुवनंतपुरम लौट गए थे.