अजीबो-गरीब बीमारी का शिकार है ये आदमी, कान से नहीं नाक से देता है सुनाई | News Raftaar

कुछ दिनों पहले से ही उसे कान से सुनाई देना बंद हो गया. जिसके बाद टिल्लू को नाक से सुनाई देने लगा.

बड़वानीः मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले के छोटे से गांव बंधन पुरा के रहने वाला टिल्लू आज-कल हर तरफ चर्चा का विषय बना हुआ है. जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे हैं. बता दें टिल्लू के इस तरह से चर्चित होने की वजह बड़ी ही अजीब है. दरअसल, टिल्लू का दावा है कि उसे कान से नहीं बल्कि नाक से सुनाई देता है. ऐसे में जैसे ही टिल्लू के कान की जगह नाक से सुनाई देने की खबर आस-पास के लोगों को पता चली बस फैलती ही चली गई. टिल्लू के घरवालों का कहना है कि उसके दोनों कान के छिद्र बचपन से ही बंद हैं, जिसके चलते पहले उसे सुनाई तो देता था, मगर बहुत कम. लेकिन, कुछ दिनों पहले से ही उसे सुनाई देना बंद हो गया. जिसके बाद टिल्लू को नाक से सुनाई देने लगा.

शुरुआत में तो इससे टिल्लू को काफी दिक्कत हुई, लेकिन फिर उसे इसकी आदत पड़ गई. वहीं मोबाइल युग की शुरुआत के साथ ही टिल्लू मोबाइल को अपने नाक के सामने रखकर लोगों से बातचीत करने लगा. टिल्लू का दावा है कि उसे कान की बजाय नाक के सामने मोबाइल रखने से ज्यादा अच्छा सुनाई देता है और वह नाक के वजह से सुन पा रहा है. धीरे-धीरे यह बात फैलते गई और टिल्लू की नाक से बात करने की लोकप्रियता इतनी फैल गई कि दूर दूर से लोग टिल्लू से मिलने और उसको देखने के लिए आते हैं.

टिल्लू के परिजन कहते हैं कि मिलने वाले लोग आकर कहते हैं कि ऐसा शख्स पहली बार देखा है. साथ ही परिजनों का भी और टिल्लू का भी यही मानना है कि उसे कान की बजाय नाक से सुनाई देता है. वहीं नाक कान गला विशेषज्ञ डॉक्टर अनीता सिंगारे कहती है कि नाक से सुनना संभव नहीं है क्योंकि नाक और कान की इंद्रियां अलग-अलग होती हैं. उनके अलग-अलग काम हैं. उस व्यक्ति को प्रॉपर जांच करवाना चाहिए, लेकिन नाक से सुनने वाली बात संभव नहीं है.