brother-sister

देश की राजधानी दिल्ली से एक झकझोर कर देने वाली ख़बर सामने आई है. दिल्ली महिला आयोग ने मंगलवार को उत्तरी दिल्ली के रोहिणी से एक 50 वर्षीय महिला को रेस्क्यू किया.

महिला को पिछले दो साल से उसके भाई ने घर में कैद किया हुआ था और खाने के लिए हर चार दिन में सिर्फ एक ब्रेड का स्लाइस ही खाने को देता था.

जिस दौरान महिला को रेसक्यू किया गया तब वह घर में फर्श पर पड़ी हुई थी. ये कितना भयावह था इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि उसका भाई पिछले दो साल से अपनी बहन को चार दिन में एक ब्रेड ही खाने को देता था.

यह भी पढ़ें – हरियाणा: रेवाड़ी में स्कूल की छात्रा का हुआ रेप, आरोपी है छात्रा का दोस्त

इस केस के बारे में जानकारी देते हुए दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने बताया कि महिला की उम्र सिर्फ 50 साल है लेकिन उनकी हालात ऐसी हो गई है जैसे मानो वह 90 साल की हो गई हैं.

उन्होंने बताया कि भूख की वजह से उनकी हड्डियां कमजोर हो गई हैं. ये काफी दुख की बात है कि किसी भी पड़ोसी ने भी पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं दी, कोई भाई और भाभी अपनी बहन को इस प्रकार कैसे ट्रीट कर सकते हैं. मालीवाल ने अपील की अगर ऐसे मामले सामने आते हैं तो लोगों को पुलिस को बताना चाहिए.

इस मामले का पता तब चला जब महिला के दूसरे भाई ने दिल्ली महिला आयोग के हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर जानकारी दी. उन्होंने फोन पर कहा था कि वह दिमागी बीमारी से जूझ रही है और भाई के द्वारा उसे बंद किया गया है.

मंगलवार को जब महिला आयोग की टीम रोहिणी में उनके घर पहुंची तो महिला के भाई और भाभी ने गेट खोलने से मना किया और अधिकारियों को वापस जाने को कहा. जिसके बाद पुलिस ने जाकर महिला को छुड़वाया.