Lanka Minar

भारत का लगभग हर इलाका रहस्य से भरा हुआ है जहां आपको हर जगह का कुछ न कुछ रहस्य देखने को मिलता है। ऐसे ही एक रहस्य के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं जो की बहुत ही अजीबोगरीब है। यह रहस्य उत्तर प्रदेश की एक मीनार का है जिसे लंका मीनार के नाम से जाना जाता है। अजीब बात यह है कि इस मीनार को देखने के लिए आप अपनी बहन या भाई के साथ नहीं जा सकते क्योंकि इस मीनार में भाई-बहन का प्रवेश पूरी तरह वर्जित है।

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले में स्थित इस मीनार की ऊंचाई करीब 210 मीटर है। आपको बता दें कि इस मीनार को बनाने के लिए रेती, सीमेंट और पत्थर का इस्तेमाल नहीं किया गया बल्कि उड़द की दाल, शंख, सीप व कोड़ी का इस्तेमाल किया गया है। इस मीनार को देश की सबसे ऊंची मीनारों में गिना जाता है।

इस मीनार के पास 100 फीट ऊंचे कुंभकर्ण और 65 फुट ऊंची मेघनाथ की मूर्ति बनी है। इस मीनार की खूबी यह है कि इसमें न केवल रावण का बल्कि पूरे परिवार का चित्रण मिलता है। हिंदू पुराणों के अनुसार अगर लड़का लड़की सात फेरे लेते हैं तो वह विवाह के बंधन में बंध जाते हैं। इसी कारण इस मीनार में भाई बहन का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित है।

दरअसल इस मीनार की छत तक पहुंचने के लिए एक घुमावदार रास्ता है। इस घुमावदार रास्ते को पूरा करते करते पूरे सात फेरे हो जाते हैं जो कि भाई बहन के रिश्ते के लिए चिंता का विषय है। यही कारण है कि किसी भी भाई को अपनी बहन के साथ गलती से भी इस जगह पर नहीं जाना चाहिए।