proffsor_attck

उत्तर के मेरठ शहर में एक प्रोफेसर पर सरेआम कुछ लोगों ने जानलेवा हमला कर दिया. बीच सड़क पर नकाब पहने कुछ लड़कों ने उन पर डंडों की बरसात कर दी. प्रोफेसर के हेलमेट और भीड़ की हिम्मत से उनकी जान बच गई. इस मामले में पुलिस ने बुधवार को 3 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया.

मारपीट की वारदात दिनदहाड़े मेरठ के लालकुर्ती इलाके में हुई. 7 सेकंड में उस शख्स पर बदमाशों ने 25 से भी ज्यादा वार किए. मार-मारकर उसके शरीर पर कई जख्म दे दिए. एक के बाद एक नकाबपोश लड़कों ने डंडों की बरसात कर दी. हिम्मत दिखाकर जब भीड़ बाइक सवार को बचाने के लिए आगे बढ़ी तो हमलावर डंडे सड़क पर फेंक कर फरार हो गए.

मारपीट के दौरान बदमाशों के अन्य साथी भी वहां मौजूद थे. जैसे ही भीड़ आगे बढ़ी. पहले से तैयार बदमाश अपने साथियों के साथ बाइक पर सवार होकर भाग गए. इस हमले में कुल 7 बदमाश शामिल हैं. एक सीसीटीवी फुटेज में तीन बदमाश हमला करते दिख रहे हैं. जिसमें से दो के चेहरे ढके हुए हैं.

यह भी पढ़ें – शरद पूर्णिमा: जानिए इस दिन क्यों बनाई जाती है खीर, क्या है महत्व

आगे तीन बाइक पर तीन लड़के और खड़े हैं. एक नकाबपोश सड़क के किनारे पर खड़ा है. गनीमत है इस शख्स ने हेलमेट पहना हुआ था. वरना चोट बड़ी और गहरी हो सकती थी. जान जाने का भी खतरा हो जाता. बदमाशों ने इसके सिर पर भी वार किए थे. जिससे हेलमेट टूट गया.

बीच सड़क पर जिसे पीटा जा रहा है, वो मेरठ की सुभारती यूनिर्विसिटी के प्रोफेसर हैं. पीटने वाले कौन हैं. ये अभी तक साफ नहीं था. तस्वीरें देखकर यही लग रहा था कि बदमाश प्रोफेसर की जान लेने पर उतारू थे. अगर भीड़ प्रोफेसर को बचाने के लिए आगे नहीं आती तो अनहोनी की आशंका थी.

पुलिस का दावा है कि वो बदमाशों तक जल्द पहुंच जाएगी. प्रोफेसर अभी घायल हैं. शरीर पर जख्म हैं. उनके हेलमेट और बाइक को भी नुकसान हुआ है. हमले में घायल प्रोफेसर का कहना था कि वो नहीं जानते हमलावर कौन हैं. आशंका जताई जा रही थी कि हमले का कनेक्शन यूनिवर्सिटी से जुड़ा है.

ये थी हमले की वजह

ये आशंका बिल्कुल सच साबित हुई. बुधवार को पुलिस ने जब हमलावरों का खुलासा किया तो हर कोई हैरान रह गया. दरअसल, सुभारती विश्वविद्यालय में परीक्षा के दौरान नकल का विरोध करने कुछ छात्र प्रोफेसर से भिड़ गए थे. उनके बीच विवाद हो गया था.

उसी विवाद के चलते आरोपी छात्रों ने प्रोफेसर पर जानलेवा हमला कर दिया. जिनमें से तीन छात्र पुलिस के हत्थे चढ़ गए. जबकि मुख्य आरोपी अभी भी फरार है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है.